बाल-मंदिर परिवार

हमारे सम्मान्य समर्थक

बुधवार, 4 जनवरी 2012

सुशील ‘सरित’ का बाल गीत :

हमको अपनी नानी की कहानी चाहिए
बाल गीत : सुशील ‘सरित’
मीठा-मीठा नारियल का पानी चाहिए,

खेलने को परियों की रानी चाहिए.
आप करते रहिए परमाणु परीक्षण,
हमको अपनी नानी की कहानी चाहिए.
वैज्ञानिक अंकल जी करते नए परीक्षण,
रखिए कभी तो हम सब बच्चों का भी मन.
चाकलेट देने वाले पेड़ चाहिए,
चाँद तक एक रोड जानी चाहिए.
लिखो-लिखो-लिखो मंत्री ताऊ जी को खत,
पार्क  में हमारे कभी लगे न टिकट.
रेट आइसक्रीम के हैं इतने बढ़े क्यों?
होनी नहीं ऐसी मनमानी चाहिए.
कंप्यूटर जी-कंप्यूटर जी, कुछ तो बोलिए,
पढ़ने-लिखने का नया रस्ता खोलिए.
बस्ते उठाते-उठाते कंधे दुखते,
आपकी की थोड़ी सी  मेहरबानी चाहिए.

4 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी पोस्ट आज के चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    चर्चा मंच-749:चर्चाकार-दिलबाग विर्क

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह बच्चों के दर्द को बहुत अच्छे से व्यक्त किया आपने लेकिन बच्चों के लिये उतनी ही मजेदार है कविता

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के लिए अग्रिम आभार . बाल-मंदिर के लिए आपके सुझावों/ मार्गदर्शन का भी सादर स्वागत है .