बाल-मंदिर परिवार

हमारे सम्मान्य समर्थक

गुरुवार, 3 मार्च 2011

चलो आज तो मेले में

 बाल गीत : कृष्ण शलभ 
चित्र में : आदित्य अपने नाना के साथ 

नाना  जी के साथ चलेंगे , चलो आज तो मेले में .
नाना  जी के साथ आज सब 
बच्चे मेले जायेंगे .
मेले में जी , सारे बच्चे
 चाट- पकौड़ी खायेंगे . 
तुम भी चलना साथ करोगे क्या तुम बैठ अकेले में ? 

हाँ, हर साल खिलौने वाला 
आता शम्भू गेट पर . 
वहां खिलौने मिल जाते हैं ,
भैया सस्ते रेट पर .
इक-दो लेंगे , हमें कौन से भर कर लाने ठेले में . 


कृष्ण शलभ 

जन्म :18 जुलाई  1945 , नकुड ,सहारनपुर.
बालगीत संग्रह : टिली लिली जहर , ओ मेरी मछली , 
सूरज की चिट्ठी , बचपन एक समंदर (सम्पादित ) 
संपर्क ; नया आवास विकास , सहारनपुर 

1 टिप्पणी:

  1. वाह जी . आदित्य का फोटो तो बहुत प्यारा है . कविता भी ....

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणी के लिए अग्रिम आभार . बाल-मंदिर के लिए आपके सुझावों/ मार्गदर्शन का भी सादर स्वागत है .